Paramoecium In Hindi | पैरामीशियम क्या है?, पैरामीशियम कहां पाया जाता है?

0

Paramecium या Paramoecium यह एककोशिकीय सिलिअटेड प्रोटोजोआ का एक जीनस है, जो चप्पल के आकार के जैसे दीखते हैं और वह मीठे पानी, समुद्री और खारे पानी में पाए जाते हैं। तो इस पोस्ट में हम जानेंगे पैरामीशियम के बारे में और जानकारी जैसे की पैरामीशियम क्या है?, पैरामीशियम का चित्र कैसा है?, paramoecium diagram, पैरामीशियम में प्रजनन कैसे होता है?, paramecium characteristics इत्यादी।

paramoecium in hindi, paramoecium diagram, पैरामीशियम क्या है?, पैरामीशियम कहा पाए जाते है?, पैरामीशियम में प्रजनन कैसे होता है?, paramecium ka chitra, paramecium reproduction, paramecium characteristics, पैरामीशियम की खोज किसने की?, पैरामीशियम की लक्षणे, Paramecium Classification, what is paramoecium in hindi, paramoecium meaning in hindi, paramoecium meaning in hindi,

Paramoecium In Hindi - पॅरामिशियम क्या है?

पैरामीशियम पानी में पाया जाने वाला एक सबसे छोटा, सूक्ष्म और एककोशिकीय प्रजाति है, जो प्रोटोजोआ जीनस प्रोटिस्टा के जीनस सिलियाटा से संबंधित है। दुनिया भर में इसकी 9-10 प्रजातियां हैं और इन प्रजातिओं में से Paramecium Aurelia और Paramecium Caudatum यह दो आम प्रजातिया है।

Paramoecium की खोज एक महान वैज्ञानिक Antonie van Leeuwenhoek(एंटोनी वैन लीउवेनहोक) ने सन 1678 इसवी में की थी। पैरामीशियम प्रजातियां आकार में 50 से 330 माइक्रोमीटर लंबाई में होती हैं। और यह कोशिकाएं आमतौर पर अंडाकार, लम्बी, पैर या सिगार के आकार की होती है।

पैरामीशियम कहां पाया जाता है?

Paramoecium विशेष रूप से मीठे पानी की झीलों, नदी, पोखर, तालाब, खाईयो, या गड्डो में भरे पानी या पोखरों के साथ-साथ सड़ती घास और गीली घास के पानी में पाए जाते हैं। इन प्रजातिओं की गति याने हालचाल, पचन और प्रजनन को एक माइक्रोस्कोप याने सूक्ष्मदर्शिका के तहत देखा जा सकता है।

Paramecium Classification - पैरामीशियम का वर्गीकरण

पैरामीशियम एककोशिकीय और यूकेरियोटिक है, इसलिए उन्हें प्रोटिस्टा राज्य में रखा जाता है और उनकी कुछ विशेषताओं के आधार पर उन्हें निम्नलिखित वर्गों में वर्गीकृत किया जाता है:

  • Domain(डोमेन) - Eukaryota(यूकेरियोटा)
  • Phylum(फाइलम) संघ- Protozoa(प्रोटोजोआ)
  • Kingdom(किंगडम) - Protista(प्रोटीस्टा)
  • Sub-Phylum(उप-संघ) - Ciliophora(सिलियोफोरा)
  • Class(वर्ग) - Oligohymenophorea(ओलिगोहाइमेनोफोरिया)
  • Order(गण) - Peniculida(पेनीकुलीडा)
  • Family(कुल)  - Parameciidae(पैरामेसीडाई)
  • Genus(वंश) - Paramecium(पैरामीशिया)

Paramecium Characteristics - पैरामीशियम की लक्षणे

  • पैरामीशियम का आकार चप्पल के जैसा होता है और वह 0.25 मिमी तक बढ़ सकता है।
  • इसकी कोशिका झिल्ली(पेशिपटल) पर सूक्ष्म और बालों के जैसे पंख होते हैं, इन परजीवियों की सहायता से पॅरामिशियम हालचाल करता है।
  • पैरामीशियम के दूसरी तरफ एक मुंह होता है, खांचे के नीचे सेल्यूलोज होता है और सेल्युलाईट गर्भाशय ग्रीवा से उत्सर्जित होता है।
  • इन प्रजातिओं का भोजन बैक्टीरिया और जैविक खाद्य कण हैं, यह खाना पंखों की हालचाल या हिलने-डुलने से मुंह तक पहुंचता है फिर यह सेल्युलाईट में प्रवेश करता है। भोजन में श्लेष्मा झिल्ली के नीचे एक परिशिष्ट होता है।
  • खाद्य पदार्थों में विकर की सहायता से भोजन का पाचन होता है और अपचित भोजन मलाशय के माध्यम से बाहर निकाल दिया जाता है।
  • कोशिकाओं का शरीर एक कठोर लेकिन लोचदार संरचना से घिरा होता है जिसे pellicle कहा जाता है। कोशिकीय साइटोप्लाज्म एक पेलिकल में संलग्न होता है। पेलिकल में एक बाहरी कोशिका झिल्ली (plasma membrane) होती है, और चपटी झिल्ली-बद्ध थैली की एक परत होती है जिसे alveoli(एल्वियोली) कहा जाता है, और एक आंतरिक झिल्ली होती है जिसे epiplasm(एपिप्लाज्म) कहते है।
  • सिलिया पेलिकल में गड्ढों से निकलती है और पूरे शरीर की सतह को ढक लेती है। इनका इस्तेमाल हरकत और पोषक तत्वों से भरपूर पानी को गुलेट के अंदर ले जाने के लिए किया जाता है।
  • Paramecia मुख्य रूप से हेटरोट्रॉफी द्वारा जीवित रहते हैं, बैक्टीरिया और अन्य छोटे जीवों पर भोजन करते हैं। कुछ प्रजातियां मिक्सोट्रॉफ़ हैं, जो कोशिका के कोशिकाद्रव्य में ले जाने वाले एंडोसिम्बायोटिक शैवाल (क्लोरेला) से कुछ पोषक तत्व को प्राप्त करती हैं।
  • पैरामीशियम की कुछ प्रजातियां ऐसी है जैसे की, Paramecium bursaria(पैरामीशियम बर्सारिया) जो हरे शैवाल के साथ सहजीवी संबंध बनाते है। शैवाल एक endosymbiont(एंडोसिम्बियन्ट) के रूप में मौजूद होते हैं जो प्रकाश संश्लेषण द्वारा पैरामीशियम को भोजन प्रदान करते हैं और उसके बदले में शैवाल को एक सुरक्षित निवास स्थान मिलता है।
  • पैरामीशियम में intracellular bacteria याने अंतःकोशिकीय जीवाणु हो सकते हैं जिन्हें कप्पा कण के रूप में जाना जाता है, कप्पा कणों के साथ पैरामीशियम में पैरामीशियम के अन्य उपभेदों को मारने की क्षमता होती है।

Paramoecium Diagram

paramoecium in hindi, paramoecium diagram, पैरामीशियम क्या है?, पैरामीशियम कहा पाए जाते है?, पैरामीशियम में प्रजनन कैसे होता है?, paramecium ka chitra, paramecium reproduction, paramecium characteristics, पैरामीशियम की खोज किसने की?, पैरामीशियम की लक्षणे, Paramecium Classification, what is paramoecium in hindi, paramoecium meaning in hindi, paramoecium meaning in hindi,

Paramecium की आकृति किसी मानव तलुवे के जैसी होती है इसलिए इसे slipper animalcule याने स्लिपर जन्तुक भी कहा जाता हैं। इसका शरीर बेलनाकार जैसा रहता है और शरीर का पिछला सिरा नुकीला, मोटा और शंकु के आकार जैसा होता है, शरीर के आगे का भाग चौड़ा और कुंद होता है। इस प्रजाति की लंबाई औसतन 0.3 मिमी तक होती है और यह प्राणी हल्के भूरे या पीले रंग के होते है।

पैरामीशियम का शरीर असममित होता है, मध्य बिंदु पर उदर की ओर एक मौखिक सतह होती है जिसे vestibule(वेस्टिबुल) के रूप में भी जाना जाता है। Cilia(सिलिया) के समन्वित गति के कारण कोशिका के अंदर भोजन खींचा जाता है। मौखिक नाली मुंह में खुलती है जिसे साइटोस्टोम और गुलेट या ग्रसनी के रूप में जाना जाता है।

इसमे भोजन को पचाने के लिए कई अन्न रिक्तिकाएं मौजूद होती हैं जिसमे एक गुदा छिद्र होता है जिसे साइटोप्रोक्ट या साइटोपीज कहा जाता है जो कोशिका के पीछे के आधे भाग में उदर की सतह पर मौजूद होता है जो अपचित भोजन को बाहर निकालने में मदद करता है।

पैरामीशियम में कितने केंद्रक पाए जाते हैं?

पॅरामिशियम में मैक्रो-नाभिक(बृहत्-केंद्रक) और सूक्ष्म-नाभिक(सूक्ष्मकेंद्रक) यह दो प्रकार के केंद्रक(न्यूक्लियस) पाए जाते है लेकिन इन दोनों का काम अलग अलग होता है, एक केंद्रक प्रजनन में सहायक होता है और दूसरा उसकी अन्य कार्यो को निर्धारित करता है। संयुग्मन के लिए नाभिक/केंद्रक की आवश्यकता होती है और सभी चयापचय गतिविधि का केंद्र मैक्रोफेज होता है।

1. Macro-nucleus - बृहत्-केंद्रक

बृहत्-केंद्रक के बिना यह प्रजाति जीवित नहीं रह सकते है, मैक्रो-नाभिक किडनी जैसा या दीर्घवृत्ताभ आकार का होता है और डीएनए के भीतर घनी तरह से पैक होता है। मैक्रोन्यूक्लियस सभी महत्वपूर्ण चयापचय गतिविधियों और विकास को नियंत्रित करता है और पैरामीशियम के सभी वानस्पतिक कार्यों को नियंत्रित करता है इसलिए इसे कायिक केंद्रक भी कहा जाता है।

2. Micro-nucleus - सूक्ष्म-नाभिक

माइक्रोन्यूक्लियस में द्विगुणित गुणसूत्र होते हैं और वह प्रजनन में भाग लेते हैं। माइक्रो न्यूक्लियस यह मैक्रो-नाभिक या बृहत्-केंद्रक के आसपास पाया जाता है। यह आकार में गोलाकार होता है, इसकी एक छोटी और कॉम्पैक्ट संरचना भी होती है। इसमे महीन क्रोमैटिन धागे(chromatin threads) और कणिकाओं(granules) को पूरे सेल में समान रूप से distribute याने वितरित किया जाता है और यह सूक्ष्म-केन्द्रक सेल के प्रजनन को नियंत्रित करता है। सूक्ष्म-नाभिक के बिना यह प्रजाति पुनरुत्पादन नहीं कर सकती है।

पैरामीशियम में प्रजनन कैसे होता है? - Paramecium Reproduction

Paramoecium में reproduction याने प्रजनन कई पद्धतियों द्वारा होता है, इसमे लैंगिक और अलैंगिक प्रजनन शामिल है, अधिकतर मामलो में इन प्रजातिओं में अलैंगिक प्रजनन होता है। इस विधि में पॅरामिशियम को दो भागों में विभाजित करके दो नयी कोशिकाओं का निर्माण होता है और यह कोशिकाएं दो अलग अलग पैरामाइक्स बनाती हैं।

अलैंगिक प्रजनन क्रिया-विधि उचित ताप, भोजन की प्रचुर मात्रा और ऑक्सीजन की सही मात्रा के उपस्थित होने पर होती है।

संयुग्मन में, दो अलग-अलग जीव याने दो पूरक पैरामीशिया एक साथ आते हैं और आनुवंशिक सामग्री का स्थानांतरण होता है। यदि पैरामाइक्सियम संयुग्मन के बाद अपने यौवन को पुनः प्राप्त नहीं करता है, तो वह बूढ़ा हो जाता है या फ़िर मर जाता है।

यह भी पढ़े:
1. डीएनए क्या है? और डीएनए के प्रकार की जानकारी
2. दुनिया के सबसे खतरनाक जहरीले मेंढक

FAQs for Paramecium In Hindi

1. पॅरामिशियम क्या है?

पैरामीशियम पानी में पाया जाने वाला एक सबसे छोटा, सूक्ष्म और एककोशिकीय प्रजाति है, जो प्रोटोजोआ जीनस प्रोटिस्टा के जीनस सिलियाटा से संबंधित है।

2. पैरामीशियम की खोज किसने और कब की थी?

Paramoecium की खोज सन 1678 इसवी में एक महान वैज्ञानिक Antonie van Leeuwenhoek(एंटोनी वैन लीउवेनहोक) इन्होंने की थी।

3. पैरामीशियम कहां पाया जाता है?

पैरामीशियम यह विशेष रूप से मीठे पानी की झीलों, नदी, पोखर, तालाब, खाईयो, या गड्डो में भरे पानी में या पोखरों के साथ-साथ सड़ती घास और गीली घास के पानी में पाए जाते हैं।

4. पैरामीशियम की पहचान कैसे करें?

पैरामीशियम यह हल्के भूरे या पीले रंग के होते है, यह मानव तलुवे जैसे होते है इसलिए इन्हें slipper animalcule याने  स्लिपर जन्तुक कहा जाता है, इनका शरीर बेलनाकार जैसा रहता है और शरीर का पिछला सिरा नुकीला, मोटा और शंकु के आकार जैसा होता है, शरीर के आगे का भाग चौड़ा और कुंद होता है।

5. पैरामीशियम में प्रजनन कैसे होता है?

Paramoecium में reproduction याने प्रजनन कई पद्धतियों द्वारा होता है, इसमे लैंगिक और अलैंगिक प्रजनन शामिल है। इन प्रजातिओं में अधिकतर मामलो में अलैंगिक प्रजनन (Binary fission) होता है।

तो आपको Paramoecium के बारे में काफ़ी कुछ जानकारी मिली होंगी की, पैरामीशियम क्या है? पैरामीशियम कहा पाए जाते है?, Paramecium में reproduction कैसे होता है? इत्यादी आशा करते की आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होंगा, अगर यह आर्टिकल अच्छा लगा तो हमे comments करके बताये और यह पोस्ट अपने दोस्तों में ज़रूर शेयर करें।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
Post a Comment (0)