Technology & Science - Ancient World - Mysterious World - Religions - history - Education

Post-

प्राचीन मैमथ और मास्टोडॉन इतिहास

                                                    प्राचीन मैमथ और मास्टोडॉन 
प्राचीन मैमथ और मास्टोडॉन इतिहास_Mammoth_Mastodon_alone_world
मैमथ और मास्टोडॉन 
मैमथ एक विशालकाय हाथी जो हजारों साल पहले पृथ्वी पर मौजूद था,पर आज वो विलुप्त हो चुका है। मैमथ ये शब्द सायबेरियन भाषा से आया है। मैमथ के मिलते झूलते अवशेष और हड्डीओंके अनुसार वैज्ञानिको का कहना है की , करोड़ो साल पहले ये अवाढव्य प्राणी यूरोप , उत्तरी अमेरिका , अफ्रीका और भारत में मौजूद था। और फिर हिमयुग की समाप्ती होने लगी तब बर्फ खिसकने पर खाने की तलाश में उत्तर की तरफ बढ़ने लगा।
मैमथ की ऊचाई आज के हाथी के मुकाबले थोड़ी ज्यादा थी , और कई गुणों से आज के हाथी से विभिन्न थे , उनके शरीर पर काले और भूरे रंग के गहरे बाल थे जो ज़मीन तक लटके रहते थे , उनकी खोपड़ी छोटी और ऊपर से थोड़ी उची थी और उनके कान बहुत छोटे थे , उनके दांत की लम्बाई १४ से १५ फुट तक हो सकती है।



प्राचीन मैमथ और मास्टोडॉन इतिहास_wooly_mammoth_mastodon_alone_world
मैमथ और मास्टोडॉन 
मैमथ और मास्टोडॉन हजारों सालों तक मनुष्य के साथ रहे , और कभी कभी मास्टोडॉन और मैमथ साथ साथ रहते थे ,उनके बिच कभी अन बन नहीं होती थी , क्यूँ की इन दोनों का रहन सहन खान पान का तरीका अलग अलग था। मास्टोडॉन एक विशाल दातो वाला प्राणी था , इनका सर मैमथ से बड़ा था पर उनका शरीर उनसे थोड़ा छोटा था। ये जिव लगभग ११,००० साल पहले विलुप्त हो चुका है। इनकी ४ करोड़ वर्ष पुरानी हड्डियाँ आफ्रिका के कांगो में मिली है। हलाकि ये काफी हद तक हाथी और मैमथ जैसे दिखते है , पर उनका रहन सहन अपने आप में काफी विभिन्न था। 
कहा जाता है की , अमेरिकी आदिवासी के पूर्वज जब साइबेरिया से उत्तर की ओर पहुंचे तब उनको ये विशाल जिव दिखे , तब ये विशाल मास्टोडॉन उनके लिए भोजन के मास का पर्याप्त स्रोत हो गया जिनसे उनको बहुत सारा मास मिलता था। मास्टोडॉन के दांत के सिरे नुकीले थे ,जिनसे वो पत्तिया और टहनिया आसानी से चबा सकते थे और मैमथ के दांत चपटे होते थे जिससे वो पत्तिया घास पूस आसानी से पीस कर खा सकते थे। 
प्राचीन मैमथ और मास्टोडॉन इतिहास_beby_wooly_mammoth_lyuba
बेबी उली मैमथ ल्युबा 
बेबी उली मैमथ अबतक के खोजे हुए मैमथ के अवशेषों मे से सबसे अच्छे ढंग से सुरक्षित है। जो चार हजार साल पुरानी है। खोजकर्ताओने उसका नाम ल्युबा ( Lyuba ) रखा। वैज्ञानिकों ने अध्ययन करके पता लगाया की , ल्युबा की मौत दलदल में गिरकर दम घोटने से हुई है। 


वीडियो देखे :-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें