Technology & Science - Ancient World - Mysterious World - Religions - history - Education

Post-

मिस्र के पिरामिडो का रहस्य / Egyptian mysterious pyramids

            मिस्र के पिरामिड का रहस्य 

गीज़ा के पिरामिड का रहस्य/Pyramid of Giza ,egipt
Pyramids of egypt
प्राचीन मिस्र के राजाओ के शव को दफ़नाने के लिए पिरामिडों का निर्माण किया गया था।मिस्र के लोगो का मानना था की मरने के बाद व्यक्ति दूसरी दुनिया में चला जाता है। इसलिए उन शवों के साथ कपड़े ,गहने ,खाने- पीने  का सामान ,हथियार भी उनके साथ पिरामिड में दफ़नाऐ जाते थे। इस लिए की  उनको वो  चीजें वहा काम आती  है, और तो और उनके नोकरो को भी ज़िंदा दफनाया जाता था। 
ये पिरामिड ४ से ५ हजार वर्ष पूर्व बनाये गए थे। पिरामिडों में ग़िज़ा का पिरामिड सबसे ऊँचा है ,उसे ''ग्रेट पिरामिड '' कहते है। और वो ४५० फिट ऊँचा है। ये पिरामिड बनाने के लिए ३० लाख मज़दूरों ने २३ साल तक काम किया है ,ग़िज़ा के पिरामिड में २३ लाख चुना पत्थरों का उपयोग किया गया है। हर एक पत्थर का वजन २ से ३० टन तक का है और ये १३ एकर ज़मीन पे फैला हुआ है।

गीज़ा के पिरामिड का रहस्य/Pyramid of Giza
Pyramids of Giza
                                    गीजा के पिरामिड को २५६० ईसा पूर्व मिस्र के शास्क खुफु के चौथे वंश के द्वारा अपनी कब्र के तोर पर बना गया था। पिरामिड के अंदर का तापमान २०अंश सेल्सिअस हमेशा बरक़रार रहता है ,चाहे बाहर कितना भी तापमान रहे। पिरामिड के बाहर पत्थरों को इतनी कुशलतासे बनाया गया और बिठाया गया की उनके जोड़ों में एक भी ब्लेड घुसाई नहीं जा सकती। इन पिरामिडों का निर्माण ओरियन राशि के तीन तारों के सीध में है। 


वैज्ञानिक प्रयोगों द्वारा यह बताया गया है की पिरामिड के अंदर विलक्षण किस्म की ऊर्जा तरंगें लगातार काम करती रहती है ,जो सजीव और निर्जीव दोनो ही प्रकार की वस्तुओ पर प्रभाव डालती है ,वैज्ञानिक इसे पिरामिड पॉवर कहते है ,और इसके अंदर बैठने से कई रोगों से छुटकारा मिलता है। 
पिरामिड के अंदर राजा खुफु के शरीर को छोड़ कर क्या है यह अब तक पता नहीं चला ,एक वैज्ञानिक का मानना है की ,४ हजार साल पहले बने इस पिरामिड के केंद्रों में २ कमरे है , इन कमरो  में कुछ सामान लगे हुये है , इसे हम फर्नीचर भी कह सकते है,ये फर्नीचर राजा खुफु के शरीर को रखने के बाद लगाए गए होंगे। दुनिया के सात अजूबों में से एक ग़िज़ा का पिरामिड है। इन पिरामिडो को लेकर अक्सर सवाल आते है की ,उस वक्त उन्होंने  बिना आधुनिक औजारों और बिना मशीनों के इतने बड़े पत्थर इतनी ऊचाई पर कैसे पहुचाये होंगे। वर्षो से वैज्ञानिक इन पिरामिडों के रहस्य जानने में लगे हुए है परंतु अभी तक कोई सफलता नहीं मिली।      

कई वैज्ञानिक मानते है की , ये पिरामिड सिर्फ शव को दफ़नाने के लिए नहीं बनाये गए थे और भी बहुत सारे कारणों की वजह से इसका निर्माण पृथ्वी पर कई जगह पर किया गया था। मगर सोचने वाली बात ये है की , एक समय में एक साथ पूरी पृथ्वी पर इतने सारे पिरामिड उस समय किन कारणों की वजह से बनाये गये होंगे ये राज अब भी अन सुलझा है।
मिस्र वासीयोके पिरामिडो को लेकर अक्सर सवाल आते है की , उस वक्त उन्होंने बिना आधुनिक औजारों और बिना अड्वान्स मशीनों के इतने बड़े बड़े पत्थर इतनी ऊचाई पर कैसे पहुचाये होंगे। माना जाता है की प्राचीन मिस्र के लोग विज्ञान और टेक्नोलॉजी में अपने समय से बहुत आगे थे। कुछ विचारवंत कहते है की पिरामिड बनाने का ज्ञान उन्हें परग्रही वासिओ से मिला था क्यूँ के इतनी विशाल और जटिल संरचना का निर्माण करना उस समय अपने आप में बहुत बड़ी बात थी। ये सब बाते वैज्ञानिको के लिए एक पहेली बन चुकी है। 
तो दोस्तों ये थी पिरामिड के बारे मे कुछ जानकारी। ......... धन्यवाद 
Video:-
Mystries of Pyramid & Secrets of Tutankhamun in Hindi